सरकार का स्पष्टीकरण-हिंसा के डर से नहीं, बल्कि निकाय चुनाव की वजह से पदमावती की रिलीज टालने को कहा

मथुराः अपने निर्वाचन क्षेत्र के दौर पर आये प्रदेश के उर्जा मंत्री व सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि देश मे किसी भी फिल्म का कोई विरोध नहीं है। किसी की भावना को ठेस न पहुंचे, इस बात का ख्याल फिल्म मेकर को रखना चाहिए। यूपी में इस समय निकाय चुनाव चल रहे हैं, प्रदेश सरकार का पूरा फोकस चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर लगा है। इसी कारण फिल्म पद्मावती की रिलीज को टालने की गुजारिश की गई। 

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि उन्होंने फिल्म को लेकर हो रहे विरोध के चलते फिल्म रिलीज करने की तिथि आगे खिसकाने को नहीं कहा गया बल्कि चुनाव को देखते हुए ऐसा करने की गुजारिश की गई। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार कानून-व्यवस्था को संभालने के लिए पूरी तरह तैयार है। पुलिस व्यवस्था का रोडमैप तैयार कर लिया गया है। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि फिल्म रिलीज होने की स्थिति में उत्पात होने के डर से सरकार ने रिलीज टालने की अपील नहीं की है।

वहीं, राम मंदिर विवाद को हल करने की कोशिशों पर बोलते हुए श्रीकांत शर्मा ने कहा कि सैकडों साल पहले आताताइयो द्वारा भारतीय संस्कृति को नष्ट करने के उद्देश्य से मंदिर को तोड़ा गया। अब समय आ गया कि सभी मिलकर मंदिर को भव्यता प्रदान करें। इसके दो ही रास्ते हैं एक आपसी सहमति और दूसरा कोर्ट का फैसला। उन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार इसमें कही पार्टी नहीं है। जिन लोगों का भारतीय संस्कृति मे विश्वास है वे सभी इसके लिये प्रयासरत हैं।